बहुत आसान है पहचान इसकी . . . अगर दुखता नहीं तो दिल नहीं है!!

bhut asan he phcan iski .... agar dukhta nhi to dil nhi he

Agar Dukhta Nhi To Dil Nhi He
Agar Dukhta Nhi To Dil Nhi He

तुम रख न सकोगे मेरा तोहफा संभालकर, वरना मैं अभी दे दूँ, जिस्म से रूह निकालकर...!!

tum rkh ne skoge tohfa smbhalkar,vrna me abhi de doon, jism se roooh nikalkar


क्या लिखूँ दिल की हकीकत आरज़ू बेहोश है,ख़त पर हैं आँसू गिरे और कलम खामोश है!

kya likhu dil ki hkikt aarzu behosh he, kht pr anshu gire or kalm kamosh he